री-इंटीग्रेशन के बाद वर्क फ्लो बेहतर हुआ

मौर्य टीवी के तकनीकी कार्यप्रणाली को बेहतर बनाने के लिए पटना स्थित मुख्यालय में हाल-फिलहाल काफी कुछ किया गया है. चैनल के री-इंटीग्रेशन अभियान के तहत फर्स्ट फ्लोर पर मौजूद पीसीआर को सेकेंड फ्लोर पर शिफ्ट कर दिया गया है ताकि चैनल के आपरेशन में आसानी हो सके. चैनल का स्टूडियो पहले से ही सेकेंड फ्लोर पर मौजूद है. इसके अलावा एक और नया पीसीआर बनाया गया है. चैनल के आपरेशन को ज्यादा बेहतर बनाने के लिए एक मास्टर स्विच के साथ एक एमसीआर रूम भी इंट्रोड्यूस किया गया है.

चैनल की तकनीकी और वर्क फ्लो में खामियों को दुरुस्त करने और री-इंटीग्रेशन का काम अंजाम दिया युवा ब्राडकास्ट कंसल्टेंट श्याम साल्वी ने. श्याम साल्वी ने यह काम महज 20-25 दिनों में कंप्लीट कर दिया. श्याम साल्वी ने सबसे पहले चैनल के वर्क फ्लो की री-डिजाइनिंग की. कुछ नए उपकरण लाए गए. बेहद कम संसाधनों व बजट में ही पूरे चैनल का री-इंटीग्रेशन कर दिया गया. री-इंटीग्रेशन के बाद चैनल के आपरेशन में ज्यादा आसानी हो गई है.

इस पूरे काम में श्याम साल्वी का साथ दिया चैनल के तकनीकी हेड अनुराग मिश्रा ने. चैनल के मालिक प्रकाश झा मौर्य टीवी में आए बदलाव को सकारात्मक करार दिया और इससे खुश दिखे. चैनल के डायरेक्टर मुकेश कुमार ने भी श्याम साल्वी और अनुराग मिश्रा की मेहनत से आए नतीजे को शानदार बताया.

This article Published in Bhadas Media on 23 June 2010 Click Here

स्क्रीन के पीछे की दुनिया का धुरंधर

आठ चैनलों की डिजाइनिंग और सिस्टम इंटीग्रेशन का काम कर चुके श्याम सालवी के पास भारतीय टीवी इंडस्ट्री की यादों का खजाना : आप रिमोट पर जैसे ही बटन दबाते हैं, टीवी स्क्रीन पर कोई एंकर ख़बरें पेश करता दिखने लगता है। कैमरे के सामने का काम दिख जाता है। इन्हें आप तक पहुंचाने वाले कौन हैं, इस बारे में लोग जान नहीं पाते। स्क्रीन के पीछे की दुनिया के स्थापित चेहरों के बारे में लोग कम जान पाते हैं। भड़ास4मीडिया ने कुछ ऐसे चेहरों को सामने लाने की तैयारी की है, जो मीडिया इंडस्ट्री में अपने काम की वजह से जाने जाते हैं।

देश के आठ चैनलों की डिजायनिंग और सिस्टम इंटीग्रेशन का काम सफलतापूर्वक करने वाले श्याम सालवी ऐसे ही धुरंधर हैं। वे पर्दे के पीछे रहकर स्क्रीन की चमक को कायम रखते हैं। अपने करियर के 13 वर्षों में 12 चैनलों के लिए काम कर चुके सालवी देश के जाने-माने ब्राडकास्टिंग इंजीनियर है। ब्राडकास्टिंग इंजीनियर वो होता है जो किसी भी चैनल का ताना-बाना बुनता है। सालवी ने टोटल टीवी (एनसीआर-दिल्ली का न्यूज चैनल) के इंस्टालेशन और सिस्टम इंटीग्रेशन का काम किया। इस चैनल के लिए ओबी वैन का विजुवलाइजेशन डिजाइन, उसका सिस्टम इंटीग्रेशन-इंस्टालेशन भी इन्हीं की देन है।

सालवी टीवी तकनीक के मास्टर माने जाते हैं। उन्होंने ही टोटल टीवी में ही मैक आपरेटिंग बेस्ड प्लेआउट सिस्टम (बिल्डिंग4मीडिया) को इंट्रोड्यूस किया। यह देश में पहली शुरुआत थी। मैक ओएस बेस्ट प्लेआउट सिस्टम (बिल्डिंग4मीडिया) इतना कारगर साबित हुआ कि आज देश के कई राष्ट्रीय और क्षेत्रीय न्यूज चैनल इस टेक्नालाजी का इस्तेमाल कर रहे हैं। सालवी जिन 13 चैनलों से जुड़े, उनमें टोटल टीवी समेत कुल आठ चैनलों की रूपरेखा और टीवी सिस्टम इंटीग्रेशन का काम किया। इनमें टोटल टीवी, एमएच वन न्यूज़, साधना न्यूज़ (बिहार), साधना न्यूज़ (एमपी), साधना टीवी, आज़ाद न्यूज़, नक्षत्र न्यूज़ और कोलकाता टीवी जैसे सफल नाम शामिल हैं। बतौर टेक्निकल एक्सपर्ट, आज भी सालवी कई चैनलों को अपने सेवाएं दे रहे हैं।

तकनीकी विशेषज्ञ के रूप में सालवी ने एमएच वन न्यूज़ चैनल में एयर बाक्स माड्यूल्स को पूर्ण कार्यप्रणाली के साथ लगाया। ये पहली बार था जब भारत में किसी न्यूज चैनल के लाइव प्रसारण के लिए इस तकनीक का इस्तेमाल किया गया। एमएच वन न्यूज़ चैनल के बाद ये तकनीक छोटे बजट के चैनलों के लिए वरदान साबित हुई है। वीएसएन (स्पैनिश) न्यूज़ ओटोमेशन भी देश के इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में सालवी की देन है। वीएसएन न्यूज़ ओटोमेशन को इन्होंने भारत में पहली बार आजाद न्यूज चैनल में लगाया। मौजूदा दौर में देश के कई बड़े चैनल वीएसएन न्यूज़ ओटोमेशन का इस्तेमाल कर रहे हैं।

उड़ीसा का न्यूज़ चैनल नक्षत्र न्यूज़ बिल्डिंग4मीडिया और ईएनपीएस टेक्नोलॉजी की वजह से किसी भी स्तरीय चैनल के माफिक बेजोड़ है। आने वाला वक्त हाई डिफिनेशन टेक्नोलॉजी का है। इसकी शुरुआत सालवी ने नक्षत्र न्यूज़ को एचडी रेडी कैमरा से लेंस बनाकर की थी। आज़ाद न्यूज और कोलकाता टीवी को सालवी ने अपनी टीम के साथ बगैर लाइव टेलीकॉस्ट रोके एक जगह से दूसरी जगह स्थापित करने का कमाल भी किया है। इसके लिए उन्हें और उनकी टीम को कई चुनौतियों से दो-चार होना पड़ा। अन्ततः कामयाबी सालवी के हाथ लगी। इसके अलावा सालवी को आईपी टीवी, डीटीएच जैसी तकनीक की भी गहरी समझ है।

श्याम सालवी ने अपनी पेशेवर जिदंगी की शुरुआत छोटी सी उम्र में की। मुंबई विश्वविद्यालय से बीएससी और बीएससी (टेक.) की डिग्री लेने के बाद श्याम ने ब्राडकास्टिंग से जुड़ी कई राष्ट्रीय और अन्तर्राष्ट्रीय ट्रेनिंग ली। सालवी ने 1996 में टेलेराड, मुंबई (सोनी की ब्राडकास्ट इक्विपमेंट्स की भारत में अधिकृत विक्रेता कंपनी) में सालवी ने बतौर सर्विस इंजीनियर काम शुरू किया। 1999 में सालवी ने यूटीवी में टेक्निकल इंचार्ज की हैसियत से काम किया। इसके बाद स्टार न्यूज़ (उत्तर भारत) के इंजीनियरिंग विभाग में प्रबंधन की ज़िम्मेदारी संभाली। यहीं से सालवी ने अपने पेशेवर जीवन की उंचाइयों को छूना शुरू किया। यह सालवी के लिए महज़ एक शुरुआत भर थी क्योंकि इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की दुनिया में साल 2000 कई ख़बरिया चैनलों की होड़ की वज़ह से बहुत ज्यादा चर्चा में रहा। इन टेलीविजन चैनलों को जमाने के लिए दरकार थी कि तकनीकी रूप से एक पेशेवर दक्ष व्यक्ति इन्हें मिले।

चैनल का लाइव टेलीकास्ट अपलिंकिंग और डाउनलिंक सबसे ज्यादा पेचीदगी का काम है। इसके साथ जरूरी है न्यूज़ रूम, स्टूडियो, एडिटिंग, पीसीआर, एमसीआर, कार रूम, इंजस्ट और लाइब्रेरी का माकूल और उच्च तकनीकी के साथ स्थापित किया जाना। इनके बीच एक तालमेल कायम करना। इतना सब करने के लिए एक उर्जावान और पारखी की जरूरत होती है जो चैनल को व्यवस्थित तरीके से खड़ा कर सके। चैनल की धड़कन होती है टेक्नोलॉजी और अगर दिल सही से धड़कता रहे तो शरीर रूपी चैनल को पूरी तरीके से खून का सही संचार मिलता रहता है। ये खून है तारों के बीच दौड़ता हुआ नेटवर्किंग का कमाल। अब सवाल ये उठता है कि इतनी सब चीजों की समझ किसके पास है? सालवी ने 13 साल तक इन्हीं सब के बीच बिताया।

सालवी कहते हैं- मेरा लक्ष्य अभी कई चुनौतियों को हराने का है, अभी जो कुछ किया है, उसे एक शुरुआत भर मानता हूं।

--------------------------------------------------------------------------------

श्याम सालवी भड़ास4मीडिया पर समय-समय पर ब्राडकास्टिंग टेक्नालाजी के बारे में लिखने के लिए राजी हो गए हैं। आपके मन में अगर टेक्नोलाजी को लेकर कोई सवाल है तो आप सीधे सालवी से पूछ सकते हैं। उनसे संपर्क करने के लिए This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it. e-mail address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it या 09999114488 का सहारा लिया जा सकता है। श्याम सालवी की दुनिया और टीवी इंडस्ट्री के तकनीकी इतिहास को जानने-समझने के लिए आप सालवी की वेबसाइट के होम पेज पर दाईं ओर स्थित टीवी चैनलों के लोगो पर क्लिक कर सकते हैं। श्याम की वेबसाइट पर जाने के लिए क्लिक करें- टीवी की तकनीक

This article Published in Bhadas Media on  Sunday, 20 September 2009  See Click here

शिक्षक दिवस पर सम्मानित हुए श्याम साल्वी

ब्राडकास्ट कंसल्टेंट श्याम साल्वी को शिक्षक दिवस के मौके पर सम्मानित किया गया. साल्वी को हेल्दी यूनिवर्स फाउंडेशन की तरफ से श्री एस राधाकृष्णन मेमोरियल अवार्ड से नवाजा गया. साल्वी ने कई चनलों को लांच कराया है और मीडिया फील्ड में आने वाले कई लोगों को ट्रेंड किया है. श्याम साल्वी टीवी ब्राडकास्ट के क्षेत्र में चर्चित नाम हैं.

उन्होंने बहुत तेजी से इस क्षेत्र में अपनी अलग पहचान बनाई है. साल्वी टोटल टीवी, कोलकाता टीवी, आज़ाद न्यूज़, एमच वन न्यूज, नक्षत्र न्यूज, साधना टीवी, साधना बिहार/झारखण्ड, साधना मध्यप्रदेश, साधना हिमाचल/उत्तराखंड मौर्य टीवी, एकान समय जैसे न्यूज चैनलों को लांच कराने में प्रमुख भूमिका निभा चुके हैं. वर्तमान में श्याम साल्वी बिहार के आर्यन टीवी को लांच कराने की जिम्मेदारी निभा रहे हैं. इसी कारण वे खुद एवार्ड समारोह में नहीं जा सके. उनकी तरफ से इस पुरस्कार को आजाद न्यूज के आईटी हेड निमेश अस्थाना ने ग्रहण किया. एवार्ड समारोह में काफी लोग मौजूद थे.

This article Published in Bhadas Media on 09 September 2010 Click Here

न्यूज़ एक्सप्रेस के टेक्निकल सेटअप की दुनिया भर में धूम

देश का पहला राष्ट्रीय हाई डेफ्नीशियन यानी एचडी चैनल अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चर्चा का विषय बना हुआ है। विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में इसमें इस्तेमाल की गई टेक्नाल़ॉजी और उपकरणों को लेकर प्रशंसात्मक लेख प्रकाशित हो रहे हैं। चैनल की तारीफ़ की मुख्य वजह बहुत कम कीमत पर एचडी टेकनालॉजी से उसका लैस होना है।

तकनीकी विशेषज्ञों का मानना है कि विश्व में ऐसा पहली बार हुआ है कि इतनी किफ़ायत के साथ कोई एचडी चैनल लगाया गया हो और दो साल तक उसमें किसी तरह की कोई समस्य़ा पैदा न हुई हो। चैनल के टेक्निकल डायरेक्टर श्याम साल्वी की सही उपकरणों के चयन, उनके इंटीग्रेशन और सफल संचालन के लिए तारीफ़ की गई है। साल्वी अब तक 16 से ज्यादा चैनल स्थापित कर चुके हैं।

न्यूज़ एक्सप्रेस सन् 2011 में 28 जुलाई को शुरू हुआ था और अपनी टेक्नालाजी एवं ठोस कंटेंट की वजह से छह महीने के अंदर ही वह देश के टॉप 10 चैनलों में शुमार हो गया था। प्रकाशित लेखों में चैनल में लगे अत्याधुनिक उपकरणों की भी विस्तार से बात की गई है। स्नेल विलकाक्स के उपकरण गुणवत्ता के मानदंड पर सर्वोच्च माने जाते हैं और न्यूज़ एक्सप्रेस में लगाए गए हैं।

न्यूज़रूम आटोमेशन इएनपीएस, क्वांटल सर्वर, विज़ारटी ग्राफिक्स का कंबिनेशन सफलतापूर्वक काम कर रहा है। देश और दुनिया के बहुत सारे चैनलों ने न्यूज़एक्सप्रेस के टेक्निकल सेटअप को देखा और सराहा है।  जिन पत्र-पत्रिकाओं  में चैनल के टेक्निकल सेटअप  और उपकरणों के बारे में  सामग्री छपी है वे हैं-

Wall Street Communication Press (USA), Snell (UK), Screen Africa (South Africa) , Content + Technology (Asia Pacific). Broadcast Engineering (Worldwide), IBE (UK), APB( Asia), Broadcasting News, tv-bay( US/UK),TV News Check, Indianmediabook,page2rss, Broadcast Show

This article Published in Bhadas 4 Media on 26 June 2013  See Click here

News Express India goes HD with Quantel

New Delhi based national News Broadcaster chooses Enterprise sQ for speed to air and low cost of ownership 

Newbury, UK, 29 June 2011: News Express, the New Delhi, India based national broadcaster and a division of the Sai Prasad Group of companies that trades as Sai Prasad Media Pvt. Ltd., has purchased a Quantel Enterprise sQ production system to power its new all-HD national news broadcasting operation which is slated to go on air in July 2011. This will be India's first national HD news broadcast service. The Enterprise sQ system, along with the entire broadcast production solution, is being supplied through Quantel's Indian reseller, Shaf Broadcast. The project consultant is Mr. Shyam Salvi ( CTO, News Express).

The Quantel solution won the highly competitive tender process on two principal attributes - its unbeatable speed to air and low cost of ownership. News Express plans to produce 12 x 30 minute news bulletins a day on the system with country-wide story input from around 25 contribution centres spread around the sub-continent. The system will also be used to produce other channel output including regular 20 minute documentary programmes.

The Enterprise sQ system is configured with 350 hours of DVCPRO 100 storage and 10 sQ View and sQ Cut journalist viewing and desktop editing applications. These will run as Active-X applications within an ENPS Newsroom computer system. Craft editing is handled by 10 Final Cut Pro editors, fully integrated into the Quantel workflow. Ingest is handled by Quantel sQ Load (files) and sQ Record (video) applications, and playout will run under Omnibus automation.

Mr Balasaheb Bhakpar, Chairman and Managing Director of Sai Prasad Group, said, "The key competitive advantage in news is getting to air first, and the Quantel solution has by far the fastest flight time in the industry, so they are the natural choice for our new channel."

"We always strive to offer the highest possible quality to our customers, which is one reason we are introducing the nation's first HD news service," added Mr S.L. Shrivastav, Sai Prasad Group CEO. "Quantel's picture quality is second to none."

"Ease of learning and use for our journalists was another important factor in our selection process, and Quantel's progressive user interface elegantly combines simplicity with powerful tools," said Mr Mukesh Kumar, News Express Channel Head. "Quantel also integrates seamlessly with both our newsroom computer system and playout automation, giving us a truly integrated workflow."

"News Express is leading the way in India with HD national news," said Martin Mulligan, Quantel Sales and Marketing Director. "Enterprise sQ will enable them to get great quality images to air quickly and easily."

ENDS

About the Sai Prasad Media Pvt. Ltd.

Sai Prasad Media Pvt Ltd was launched on 28th January 2010, and is incorporated under the Companies Act, 1956 with an objective of establishing T.V. channels for news, entertainment and to carry out businesses of exhibiting and distributing television films, television programs, video films & other allied activities to promote and share relevant information and entertainment to the society at large.

This is an additional venture in the media and entertainment sector to provide latest updates in the national and global arena pertaining to news, businesses, entertainment and other informative contents.

The organization encourages out-of-the-box thinking and we offer an environment where initiatives by employees are encouraged. We also have a reward based structure and offer ample opportunities for training and development of the employees for effective performances in the concerned domain of businesses.

Article Published in Click Here...

Article Published in Click Here...

Article Published in Click Here...

Article Published in Click Here...

Loading...
Loading...